KYC Kya Hai | KYC की हिंदी में जानकारी

दोस्तों आपने कही ना कही तो सुना होगा की KYC Kya Hai, जी हां दोस्तों आज हम आपको KYC Kya Hai | KYC की हिंदी में जानकारीदेने वाले है। आप सभी को KYC के जितने भी सवाल है वो सभी सवालों को जवाब आपको आज इस आर्टिकल्स में मिलने वाला है ।

अगर अपने कोई नया मोबाइल लिया होगा, तो आपने एक नया सिम कार्ड लिया होगा तो पहले आपको सिम कार्ड लेने के लिए आधार कार्ड की फोटोकॉपी देनी पड़ती थी दोस्तों आज समय सिर्फ (e-KYC) के माध्यम से सिम कार्ड मिल जाता है कोई डाक्यूमेंट्स की फोटोकॉपी देनी की जरुरत नहीं है ।

आप लोग घर बैठे बैठे ऑनलाइन बैंक अकाउंट खोल ना चाहते है तो आप भी e-KYC से आप अपना अकाउंट ओपन करवा सकते है।KYC Kya Hai और आप बैंक की पैसा की लेन देन भी कर सकते है और उसमे भी e-KYC करने के ऑप्शन दिया जाता है। और आप कही पे भी आप अपने पैसे का इन्वेस्टमें या फिर सेविंग करोगे तो सबसे पहले आपको e-KYC करना जरुरी होता है । तो दोस्तों इस आर्टिकल में आपको ये KYC क्या होता है और उसका इस्तमाल कैसे करते है। और ये हम सभी के लिए क्यों KYC जरुरी और फ़ायदेमंत है

KYC क्या होता है ?

अब आपको जानकारी देते है की KYC क्या है ? KYC का Full Form ( Know Your Customer ) होता है। और KYC का हिंदी में आप अपने ग्राहक को पहचान ना होता है, दोस्तों कोई भी कंपनी या फिर कोई भी बैंक अपने कस्टमर वेरिफ़िएड करने के किये कुछ जरुरी डाक्यूमेंट्स लेती है, आपने जो भी डाक्यूमेंट्स कंपनी या फिर कोई भी बैंक में देते है तो उसको KYC डॉक्यूमेंट कहलाया जाता है और दोस्तों हम और आप सभी जानते है की हमारा डाक्यूमेंट्स बैंक वाले क्यू मंगवाते है, क्योकि जब भी हमारा नई अकाउंट ओपन करना है, या फिर म्यूच्यूअल फण्ड खरीदी करते है, और बैंक में लॉकर बनवाते है, इस लिए कोई बैंक या फिर कंपनी वाले सभी जरुरी KYC डाक्यूमेंट्स मंगवाते है,

You May Like These Article

KYC क्यों महत्वपूर्ण है ?

बैंक और वित्तीय संस्थानों के लिए KYC का बहुत जरुरी और महत्वपूर्ण होता हैं,क्योंकि इस विधि दौरान व्यक्ति के आवेदन और उसकी पहचान को वेरिफ़िएड होता है। और दोस्तों इस बात से आश्वस्त हो जाते हैं कि जो भी वयक्ति ने डाक्यूमेंट्स दिये गये हैं, वे वास्तविक हैं,

ऐसे KYC प्रकरण हुए हैं, जिसमें धोखाघड़ी और और जालसाजी कर अकाउंट से पैसे निकाल लिए गए,यदि आवेदक की पहचान सुनिश्चित हो जाती हैं, तो जालसाजी की सम्भावना कम हो जाती है और इसे रोका जा सकता ह,

e-KYC Meaning

  • बैंक खाता खोलना
  • डी- मैट खाता खोलना के लिए
  • म्यूच्यूअल फण्ड and SIP में इन्वेस्टमेंट करना
  • KYC की प्रक्रिया को आधार OTP के द्वारा ऑनलाइन सही करना

इन सभी प्रक्रिया खाता खोलने करने के लिए पहले कस्टमर से आधार कार्ड पैन कार्ड ये सभी डाक्यूमेंट्स लेके ऑफिस में जाना होता था।,अब अपने KYC के माध्यम से सभी काम हो जाते है,

You May Like These Article

KYC का इस्तमाल क्या होगा

सबसे पहले जो भी व्यक्ति है उसका पहचान के लिए (Individual) के लिए e KYC सबसे महत्वपूर्ण बात होती है और ज्यादातर इस्तमाल होता है, व्यक्ति की पहचान को सत्यापित करना होता है,जैसे किमोबाइल सिम के लिए या आरक्षित श्रेणी इंडियन रेलवे में वास्तविक रूप में टिकट होल्डर की पहचान को सत्यापित करना होता है मतलब ये कि आपने अपना और अपने पिता का जो नाम बताया है वो सही है या नहीं,

बैंक में अकाउंट खुलवाने या लेन-देन के लिए, शेयर मार्किट,म्यूच्यूअल फण्ड वगैरह में निवेश के लिए अकाउंट खुलवाना,इन मामलों में KYC इसलिए जरूरी होता है ताकि कोई व्यक्ति सिर्फ अपने नाम से ही निवेश कर सके,इससे हर व्यक्ति का जवाब देही तय होती है और हमारे देश में कला धन रोक सकती है,

बैंक में अकाउंट खुलवाने या लेन-देन के लिए, शेयर मार्किट,म्यूच्यूअल फण्ड वगैरह में निवेश के लिए अकाउंट खुलवाना,इन मामलों में KYC इसलिए जरूरी होता है ताकि कोई व्यक्ति सिर्फ अपने नाम से ही निवेश कर सके,इससे हर व्यक्ति का जवाब देही तय होती है और हमारे देश में कला धन रोक सकती है,

जब बैंक खाता बंद हो जाता है

अगर आप अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसक्शन नहीं करते है उसकी वजह से आपका अकाउंट बंद कर दिया गया है,और अपने अकाउंट को फिर से स्टार्ट करने के लिए उसे आपको फिर से KYC प्रक्रिया करना बहोत जरुरी होता है,

KYC दस्तावेजों में क्या क्या हैं

दोस्तों KYC डाक्यूमेंट्स में आपका पहचान प्रमाण के लिए आपका पते का सबूत और आपका वर्तमान पासपोर्ट का फोटो होता है, आप अपने पहचान प्रमाणके लिए आपका पते का सबूत के लिए

पासपोर्ट साइज फोटो या पैन कार्ड भी दे सकते है,लेकिन दोस्तों आप अपना पैन कार्ड भी दे सकते है,लेकिन पैन कार्ड आपका पहचान प्रमाण भी है,

पैन कार्ड में आपका घर का एड्रेस नहीं होता है,और आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, इलेक्शन कार्ड इन सभी डॉक्यूमेंट में आप एड्रेस वेरिफ़िएड कर सकते है, और इन सभी डॉक्यूमेंट KYC डाक्यूमेंट्स कहलाते है,

You May Like These Article


Aadhar e-KYC प्रक्रिया:-

आधार कार्ड ये e-KYC पेपरलेस KYC प्रकिया है और आपके जो पहचान प्रमाणके लिए आपका एड्रेस प्रूफ इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रमाणित अन्य विवरणों का प्रमाण (Authentication) किया जाता है,

You May Like These Article

विभिन्न सुविधाओं के लिए KYC जरुरी है

बैंक में अकाउंट खुलवाना, म्यूच्यूअल फण्ड,अकाउंट बैंक लाकर,ऑनलाइन गोल्ड में इन्वेस्टमेंट के लिए KYC को अपडेट कराते रहना बहोत जरुरी होता है, यहां जो भी डॉक्यूमेंट की एक सूची दी है उसके आधार पर व्यक्ति की पहचान और उसके पते को वेरिफ़िएड किया जाता है,

Leave a Comment